Category Archives: Hindi

हिन्दी व्याकरण – अनेक शब्दो के एक शब्दांश – hindi Grammer GK

hindi-subject-gk
  1. वह व्यक्ति जिसके कुल का पता ज्ञात न हो – अज्ञातकुल
  2. जिसे दबाया न जा सके – अदम्य
  3. वह व्यक्ति जो किसी पक्ष का समर्थन करता है – अधिवक्ता
  4. वह स्त्री जिसके पति ने दूसरा विवाह कर लिया हो –

हिंदी विषय से सम्बंधित प्रश्न

संधि or हिंदी के exam में पूछे जाने वाले प्रश्न

  1. दयानन्द में प्रयुक्त संधि का नाम –
    • गुण संधि(ब) दीर्घ संधि (स) व्यंजन संधि (द) यण संधि
  2. सदेव में प्रयुक्त संधि का नाम
    • गुण संधि(ब) स्वर

मुहावरे व लोकोत्तिया helpful for patwari exam उत्तराखंड

मुहावरे व लोकोत्तिया helpful for patwari exam उत्तराखंड

Most important idioms and phrase in hindi for patwari exam uk
  1. मुट्ठी गरम करना – रिश्वत देना
  2. जमीन पर पैर न रखना – अहंकार होना
  3. काजल की कोठरी होना- कलंक लगने का

परीक्षा में पूछे जाने वाली लोकोत्तियां (uttarakhand group c hindi related question ask in exams)

  1. “मखमली जूते मारना” का क्या अर्थ है?
    1. मीठी बातों से लज्जित करना
    2. व्यंग्य करना
    3. धनी व्यक्ति को प्रताड़ित करना
    4. अपमानित करना
  2. ‘घर का जोगी जोगड़ा, आन गाँव का सिद्ध’ का सही अर्थ बताइए?
    1. घर के ज्ञानी को सम्मान नहीं
    2. घर-घर

हिंदी पर्यावाची शब्द

आग– अग्नि,अनल,पावक ,दहन,ज्वलन,धूमकेतु,कृशानु ।
अमृत-सुधा,अमिय,पियूष,सोम,मधु,अमी।
असुर-दैत्य,दानव,राक्षस,निशाचर,रजनीचर,दनुज।
अश्व – वाजि,घोडा,घोटक,रविपुत्र ,हय,तुरंग .
आम-रसाल,आम्र,सौरभ,मादक,अमृतफल,सहुकार ।
अंहकार – गर्व,अभिमान,दर्प,मद,घमंड।
आँख – लोचन, नयन, नेत्र, चक्षु, दृग, विलोचन, दृष्टि।
आकाश – नभ,गगन,अम्बर,व्योम, अनन्त ,आसमान।
आनंद – हर्ष,सुख,आमोद,मोद,प्रमोद,उल्लास।
आश्रम – कुटी …

अनेक शब्दों के लिए एक शब्द- single word for a group of word

  1. वह कवि जो तत्काल कविता करे ? आशुकवि
  2. जो उदार न हो – अनुदार
  3. जिसमे धैर्य न हो – अधीर
  4. जिसमे रस हो – सरस
  5. जिसमे रस न हो – नीरस
  6. जिसके पास कुछ भी न हो – अकिंचन
  7. जिसे

hindi subject related question with answer in hindi ask in exam

1.हिन्दी में प्रथम डी. लिट् — डा. पीताम्बर दत्त बड़थ्वाल
2.हिंदी के प्रथम एमए — नलिनी मोहन सान्याल (वे बांग्लाभाषी थे।)
3.भारत में पहली बार हिंदी में एमए की पढ़ाई — कोलकाता विश्वविद्यालय में कुलपति सर आशुतोष मुखर्जी ने 1919

Close