विश्व नारियल दिवस (02 सितम्बर): (02 September: World Coconut Day in Hindi)

विश्व नारियल दिवस (02 सितम्बर): (02 September: World Coconut Day in Hindi)

 

सम्पूर्ण विश्व में हर वर्ष  02 सितंबर को विश्व नारियल दिवस(International coconut day) के रूप में मनाया जाता है।नारियल दिवस (coconut day) की महत्ता को सारे संसार मे विस्तारित करने के लिए 02 सितंबर 2009 से यह दिवस प्रतिवर्ष (every year) मनाया जाने लगा। इस दिवस के अवसर पर कई जगहों पर नारियल से बनी विभिन्न वस्तुओं की प्रदर्शनियाँ लगाई जाती हैं। नारियल एक बहुगुण संपन्न  फल (fruit) है इसके प्रत्येक भाग का हम विभिन्न प्रकार से उपयोग (use)मे लाते  हैं। नारियल दिवस नारियल(coconut) की हमारे जीवन मे महत्ता (importance)को दर्शाता  है।

विश्व नारियल दिवस का उद्देश्य ( Objective of world coconut day)

विश्व नारियल दिवस (world’s coconut day)मनाने का प्रमुख उद्देश्य नारियल को उद्योगों के लिए कच्चे माल के रूप मे प्रयोग करने को प्रोत्साहित करना और नारियल की हमारे जीवन मे उपयोगिता के  प्रति जागरूकता को फैलाना है। नारियल पाम फैमिली(coconut palm family) से संबंध रखता है और इसका का  वैज्ञानिक नाम कोकस न्यूसिफेरा (Coccus nucifera)है।

दुनिया(world) मे बहुत से देश नारियल (coconut)का उत्पादन करते हैं जिसमे  फेडरेटेड स्टेट्स ऑफ माइक्रोनेशिया(Federated states of micronesia), फिजी, भारत, इंडोनेशिया, किरिबाटी, मलेशिया, मार्शल आइलैंड(Marshal island), पपुआ न्यू गिनीया, फिलीपिंस, समोआ, सोलोमन आइलैंड, श्री लंका(Shri Lanka), थाइलैंड, टोंगा, वनोतु, विएतनाम(Vietnam), जमैका और केनिया हैं जिनमें सर्वाधिक  नारियल उत्पादन इंडोनेशिया(Indonesia), फिलीपींस, भारत(india), ब्राजील और श्री लंका में किया जाता  है।

नारियल की उपयोगिता (Uses of Coconut)

नारियल (coconut)हमारे लिए बहुत उपयोगी है। इसकी खेती हमारे देश में करीबन एक करोड़ व्यक्तियों  को रोजगार देती है। भारत (india)के दक्षिणी राज्यों  केरल, कर्नाटक, तमिलनाडु और आंध्र प्रदेश में नारियल (coconut)की अत्यधिक  खेती (fields)की जाती है। हमारे देश  का 90 प्रतिशत तक नारियल इन्हीं राज्यों (states) से  प्राप्त किया जाता है।

नारियल-पानी (coconut water)अनेक गुणों से संपन्न होता है यह पीने मे जितना स्वादिष्ट (delicious)होता है उतना ही पौष्टिक एवं स्वास्थ्यवर्द्धक होता है। गर्मी के मौसम में नारियल-पानी ईश्वर दिया हुआ वरदान है ।नारियल के  सफेद भाग को कच्चा भी खाया जाता है और पका हुआ भी।  नारियल का हमारे धर्म मे पूजा (worship) भी की जाती है। इसके द्वारा कई प्रकार की  मिठाई (Sweet) और कई पकवान बनते  हैं।

नारियल जटाओं से  गद्दे, थैले तथा और भी कई प्रकार की उपयोगी वस्तुओं(useful things) का निर्माण किया जाता है ।अन्य देशो मे नारियल के द्वारा निर्मित वस्तुओं का व्यापार( business) भी किया जाता है। नारियल से बनी  वस्तुओं के निर्यात से हमारे देश को लगभग 470 करोड़(crore) रुपए की राष्ट्रीय आमदनी होती है ।

नारियल दिवस से सम्बंधित सामान्य ज्ञान ( General knowledge related to Coconut Day )

 

प्रश्न1   विश्व नारियल दिवस (world’s coconut day) कब मनाया जाता है ?

उत्तर प्रतिवर्ष(every year) 2 सितम्बर को विश्व नारियल दिवस(world’s coconut day ) मनाया जाता है।

प्रश्न 2 नारियल दिवस (coconut day)मनाने का प्रमुख उद्देश्य क्या है ?

उत्तर इसका उद्देश्य नारियल की कृषि(farming) तथा उत्पादकता को बढ़ावा देना है।

प्रश्न 3 इस दिवस को किस उपलक्ष्य मे मनाया जाता है ?

उत्तर  एशिया प्रशांत नारियल (Asia pacific coconut) समुदाय (APCC) की स्थापना की स्मृति में मनाया जाता है।

प्रश्न 4 भारत (india)में इस दिवस को किसके अंतर्गत मनाया जाता है ?

उत्तर भारत में इस दिवस को नारियल विकास बोर्ड (coconut development board)के तहत मनाया जाता है।

प्रश्न 5 कौन सा द्वीप (island) नारियल समुदाय का  अंतरसरकारी संगठन है ?

उत्तर  एशिया प्रशांत नारियल(asia pacific coconut) समुदाय एक अंतरसरकारी संगठन है ।

प्रश्न 6  अंतरसरकारी संगठन के कितने सदस्य (member) हैं ?

उत्तर  18 सदस्य ( members )

प्रश्न 7  APCC का संस्थापक सदस्य (founding member) है?

उत्तर  भारत (india)

प्रश्न 8 भारत में प्रतिवर्ष (every year) इस व्यवसाय से कितना उत्पादन  किया जाता है ?

उत्तर  2437.80 करोड़ (crore)रुपये का उत्पादन

प्रश्न 9 भारत में नारियल (coconut)की उत्पादकता कितनी है ?

उत्तर 11,616 नारियल प्रति हेक्टेयर (hectare) है

प्रश्न 10 नारियल दिवस(coconut day) को मनाने का कार्यक्रम कब शुरू हुआ ?

उत्तर  02 सितंबर (September) 2009

Categories

 

Recent Posts

error: Bhai Bahut Mehnat Lagi Hai. Padhna Free hain?