3 October : World Habitat Day (विश्व पर्यावास दिवस )

World Habitat Day (विश्व पर्यावास दिवस )

अक्टूबर का महीना विशेष तौर पर बहुत ही खास माना जाता है। हर साल अक्टूबर (October)के महीने के प्रथम सोमवार को विश्व पर्यावास दिवस (World Habitat Day)को मनाया जाता है। संयुक्त राष्ट्र महासभा (United Nations General Assembly )ने वर्ष 1985 में अक्टूबर के प्रथम सोमवार को हर वर्ष विश्व पर्यावास दिवस (World Habitat Day)को मनाने की उदघोषणा की थी।हर वर्ष की तरह इस वर्ष भी विश्व पर्यावास दिवस 05 अक्टूबर, सोमवार को मनाया जायेगा। इस वर्ष विश्व पर्यावास दिवस की थीम “सभी के लिए आवास: एक बेहतर शहरी भविष्य (Housing For All: A Better Urban Future )” है।

 History(इतिहास)

प्रथम बार वर्ष 1986 में विश्व पर्यावास दिवस(World Habitat Day) का आयोजन बड़े उत्साह के साथ किया गया था। प्रथम बार आयोजित विश्व पर्यावास दिवस का मूल उद्देश्य “आवास मेरा अधिकार है” था। इस आयोजन का स्थल नैरोबी(Nairobi) शहर था।इसके अतिरिक्त इस आयोजन के निम्नलिखित उद्देश्य भी रहे –

  • Homeless Shelter (1987)
  • Our Neighborhood (1995)
  • Cities of the Future (1997)
  • Safe City (1998)
  • Women in Urban Governance (2000)
  • Water and Sanitation for Cities (2001)
  • Slums without Cities (2003)

Some facts about World Habitat Day

 

  • विश्व पर्यावास दिवस (World Habitat Day) एक सार्वजनिक अवकाश नहीं है अपितु यह एक वैश्विक अनुपालन है।
  • हर वर्ष यूएन हैबिटेट प्रतिवर्ष के लिए निर्धारित थीम(Theme) को प्रचार-प्रसार करने और पर्यावास को बढ़ावा देने के सन्दर्भ में जागरूकता को बढ़ाने के लिए गतिविधियों का बड़े उत्साह के साथ आयोजन करता है। इन कार्यक्रमों मे हिस्सा लेने के लिए केंद्र सरकार, स्थानीय सरकार, नागरिक समाज, निजी क्षेत्र और मीडिया उसके सहयोगियों के रूप में कार्य करते हैं।
  • पर्यावास स्क्रॉल ऑफ ऑनर’(Habitat Scroll of Honor) पुरस्कार, संयुक्त राष्ट्र के मानव बस्ती कार्यक्रम (यूएनएचएसपी) द्वारा वर्ष 1989 से शुरू किया गया था। इस पुरस्कार को दुनिया के सबसे प्रतिष्ठित मानव बस्ती पुरस्कार के तौर पर माना जाता है।

Miscellaneous facts

  • सभी के लिए सुरक्षित और स्वस्थ रहने वाले पर्यावरण का विकास (Development of environment)विशेष रूप से बच्चों के लिए।
  • पर्याप्त और टिकाऊ परिवहन और ऊर्जा।(Adequate and sustainable transportation and energy)
  • शहरी क्षेत्रों में हरियाली(Greenland) की स्थापना और पौधरोपण की व्यवस्था।
  • शुद्ध और सुरक्षित पीने के पानी (Pure Water)के साथ ही स्वच्छता।
  • सांस लेने के लिए ताजा और प्रदूषण से रहित हवा (Pure Air)।
  • लोगों के लिए पर्याप्त रोजगार (Employement) के अवसर।
  • झुग्गी में रहने वाले लोगो में सुधार और शहरी योजना में वृद्धि।
  • अपशिष्ट पदार्थ की पुनरावृत्ति सहित बेहतर कचरा प्रबंधन(Better waste management)।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Bhai Bahut Mehnat Lagi Hai. Padhna Free hain?