कॉमन एलिजिबिलिटी टेस्ट (CET) और नेशनल रिक्रूटमेंट एजेंसी(NRA)

              कॉमन एलिजिबिलिटी टेस्ट (CET) और नेशनल रिक्रूटमेंट एजेंसी(NRA)

 

केंद्रीय मंत्रिमंडल द्वारा बुधवार 19 अगस्त 2020 को राष्ट्रीय भर्ती एजेंसी (NRA) की स्थापना के लिए अपनी मंजूरी प्रदान कर दी गयी है । राष्ट्रीय भर्ती एजेंसी (NRA) सम्पूर्ण देशभर में कॉमन एलिजिबिलिटी टेस्ट (CET) द्वारा समूह ब और सी (गैर-तकनीकी) पदों के साथ ही सभी अराजपत्रित सरकारी (Govt seats)पदों हेतु एक सामान्य पात्रता परीक्षा (CET) का आयोजन करेगा। केंद्र सरकार(Central Govt) के सभी अराजपत्रित पदों पर भर्ती के लिए और सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों में भी कॉमन एलिजिबिलिटी टेस्ट(Common elidiblity test), सीईटी का आयोजन पदों के लिए किया जाता है। उम्मीदवारों को देश भर में एकल, ऑनलाइन सीईटी(Online) परीक्षा को देना होगा। यह सीईटी (CET)स्कोर तीन साल के लिए मान्य रहेगा।

भारत के केंद्रीय मंत्री डॉ जितेंद्र सिंह (Jitendra Singh)ने इस निर्णय का तहे दिल से स्वागत किया और अपने ट्वीट (Tweet)के माध्यम से विचार व्यक्त करते हुए कहा कि “प्रारंभिक चयन हेतु विभिन्न सरकारी रिक्तियों(Govt ) के लिए कॉमन एलिजिबिलिटी टेस्ट (CET) आयोजित करना , नेशनल भर्ती एजेंसी (NRA) का गठन करना दूरदर्शी द्वारा लाया गया एक क्रांतिकारी सुधार है।”

NRA में रेल मंत्रालय, वित्त मंत्रालय / वित्तीय सेवा विभाग, एसएससी(SSC), आरआरबी(RRB) और आईबीपीएस(IBPS) के प्रतिनिधि होंगे। भारत के माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी(Narendra Modi) जी ने बुधवार को कहा कि “राष्ट्रीय भर्ती एजेंसी करोड़ों युवाओं के लिए एक वरदान साबित होगी, यह कई परीक्षणों को खत्म कर देगा और कीमती समय के साथ-साथ संसाधनों को भी बचाएगा। इससे पारदर्शिता को भी बड़ा बढ़ावा मिलेगा।”
वर्तमान(Present) समय में, सरकारी नौकरियों की ढूंढ करने वाले इच्छुक उम्मीदवारों (Candidates)को विभिन्न पदों के लिए कई भर्ती एजेंसियों द्वारा आयोजित अलग-अलग परीक्षाओं(Exams) के लिए उपस्थित होना पड़ता है, जिसके लिए समान पात्रता शर्तें निर्धारित की गई हैं। सरकार की एक प्रेस विज्ञप्ति (Press)में कहा गया है कि उम्मीदवारों(Candidates) को कई भर्ती एजेंसियों को शुल्क (Exam Fees)देना होगा और विभिन्न परीक्षाओं(exams) में शामिल होने के लिए लंबी दूरी तय करनी होगी।
एनआरए (NRA)को पूर्व मे केंद्रीय बजट 2020 में सरकार द्वारा प्रस्तावित किया गया था। इसके अतिरिक्त , CET लेने वाले उम्मीदवारों पर प्रयासों की संख्या पर कोई सीमा नहीं लगाई जाएगी। परिणाम की घोषणा की तारीख से स्कोर तीन साल की अवधि के लिए मान्य होगा।

राष्ट्रीय भर्ती एजेंसी की मुख्य विशेषताएं (National Recruitment Agency to conduct Common Eligibility Test Full Details Highlights)

1-कैबिनेट ने राष्ट्रीय भर्ती एजेंसी (NRA) के निर्माण को मंजूरी दी, जो केंद्र सरकार की नौकरियों के लिए भर्ती (Recruitment)प्रक्रिया में परिवर्तनकारी सुधार का मार्ग प्रशस्त करती है।
2-एनआरए: कर्मचारी चयन आयोग (SSC), रेलवे भर्ती बोर्ड (RRB) और इंस्टीट्यूट ऑफ बैंकिंग सर्विस पर्सनेल (IBPS) द्वारा पहले स्तर के परीक्षण को शामिल करने के लिए एक बहु-एजेंसी निकाय
3-एसएससी, आरआरबी और आईबीपीएस के लिए पहले स्तर पर उम्मीदवारों (Candidates)को स्क्रीन करने के लिए सामान्य पात्रता परीक्षा (सीईटी)
4-सीईटी: ग्रेजुएट, हायर सेकेंडरी (12 वीं) और मैट्रिकुलेट (10 वीं पास) उम्मीदवारों के लिए एक कंप्यूटर-आधारित ऑनलाइन(Online) पात्रता परीक्षा (CET) एक पथ-ब्रेकिंग सुधार के रूप में।
5-हर जिले में सीईटी(CET): ग्रामीण युवाओं, महिलाओं और वंचित उम्मीदवारों तक पहुंच में आसानी
6-सीईटी: एस्पिरेशनल डिस्ट्रिक्ट्स में टेस्ट सेंटर(Test Center) तक पहुंच पर ध्यान दें
7-CET: यूनिफॉर्म ट्रांसफॉर्मेटिव रिक्रूटमेंट प्रोसेस
8-सीईटी में; परीक्षा से बाहर की बहुलता
9-एनआरए(NRA) द्वारा सीईटी: आईसीटी का उन्मूलन मालप्रैक्टिस का उपयोग
10-CET: योग्य उम्मीदवारों की प्रथम चरण की स्क्रीनिंग
11-भर्ती चक्र (Recruitment process)को कम करने के लिए सीईटी
12-ग्रामीण युवाओं के लिए मॉक टेस्ट (Mock Test)आयोजित करने के लिए एन.आर.ए.
13-एनआरए में मॉक टेस्ट, 24×7 हेल्पलाइन और शिकायत निवारण पोर्टल है।

राष्ट्रीय भर्ती एजेंसी (NRA)

राष्ट्रीय भर्ती एजेंसी (NRA) नामक एक बहु-एजेंसी निकाय समूह बी और सी (गैर-तकनीकी) पदों के लिए उम्मीदवारों / उम्मीदवारों को स्क्रीन (Screen)करने के लिए एक सामान्य पात्रता परीक्षा (सीईटी) आयोजित करेगा। एनआरए(NRA) में रेल मंत्रालय, वित्त मंत्रालय / वित्तीय सेवा विभाग, एसएससी, आरआरबी और आईबीपीएस के प्रतिनिधि होंगे।  एनआरए(NRA) एक अत्याधुनिक संस्था होगी जो केंद्र सरकार की भर्ती के क्षेत्र में अत्याधुनिक प्रौद्योगिकी और सर्वोत्तम प्रथाओं को लाएगी।

कॉमन एलिजिबिलिटी टेस्ट और राष्ट्रीय भर्ती एजेंसी के फायदे

  • प्रस्ताव से न केवल ग्रामीण उम्मीदवारों (Villagers candidates)तक पहुंच आसान होगी, यह दूर-दराज के क्षेत्रों में रहने वाले ग्रामीण उम्मीदवारों को भी परीक्षा देने के लिए प्रेरित करेगा और इस तरह, केंद्र सरकार की नौकरियों में उनका प्रतिनिधित्व बढ़ाएगा।
  • इससे गरीब उम्मीदवारों को बड़ी राहत मिल पायेगी।
  • महिला(Woman Candidates) उम्मीदवारों को बहुत लाभ होगा।
  • ग्रामीण क्षेत्रों से उम्मीदवारों के लिए बोनांजा
  • सीईटी (CET)स्कोर तीन साल के लिए वैध होगा, प्रयासों पर कोई रोक नहीं
  • परीक्षण मानकीकृत होगा
  • उम्मीदवार स्वयं शेड्यूलिंग टेस्ट और अपना सेंटर चुन सकेंगे।
  • देश के विभिन्न हिस्सों के लोगों को परीक्षा(Exam) देने में बहुत सुविधा होगी और उन्हें चयनित होने का एक समान अवसर मिलेगा।
  • संगठनों को भर्ती (Recruitment )में खर्च होने वाले खर्च और समय (time)की बचत करने में मदद मिलेगी।
  • यह भर्ती चक्र को बहुत छोटा कर देगा
  • व्यय तीन वर्षों की अवधि में किया जाएगा

Categories

 

Recent Posts

error: Bhai Bahut Mehnat Lagi Hai. Padhna Free hain?