बिहार में प्राथमिक शिक्षक बनने के लिए महत्वपूर्ण पात्रता के मानदंड 2019

0
96

शिक्षण एक पेशा है जो हमेशा एक महत्वपूर्ण के साथ-साथ बहुत ही सम्मानजनक पेशे के रूप में माना जाता है। एक शिक्षक सी को बदलते समय शिक्षण के साथ समाज के विचारों और विश्वासों में परिवर्तन और विकास लाने के लिए अग्रणी माना जाता है, यह एक ऐसा पेशा बन रहा है जो आपको सम्मान देता है और एक बहुत अच्छा कैरियर और वेतन भी देता है।शिक्षण कैरियर को विभिन्न स्तरों में वर्गीकृत किया जा सकता है जैसे नर्सरी स्कूल शिक्षक, प्राथमिक / मध्य विद्यालय शिक्षक और हाई स्कूल शिक्षक। इन विभिन्न स्तरों के लिए मानदंड तदनुसार भिन्न होते हैं। इसका मतलब है कि अगर आप एक प्राथमिक शिक्षक बनना चाहते हैं तो आपकी डिग्री अलग होगी, हाई स्कूल शिक्षक के लिए आपकी डिग्री अलग होगी।

स्नातक में आपको वही विषयों का चयन करना चाहिए जिनमें आपको रूचि हो | रूचि होने पर आप उस विषय में उच्च शिक्षा प्राप्त करने का प्रयास अवश्य करें |

टीचर बन के सबसे पहले और कम से कम आपको 12 वीं पास हो जाना जरुरी है। आपको 12 वीं पास करने के बाद स्नातक की उपाधि प्राप्त करनी होगी। आप BA, B.Sc., B.Tech जैसे किसी भी डिग्री से ग्रेजुएशन कर सकते हैं। ग्रेजुएशन पूरा करने और पास करने के बाद ही आप प्राथमिक शिक्षक बनने के लिए आवेदन कर सकते हैं।

स्नातक में आपके अंक 50 प्रतिशत होना अनिवार्य है, अन्यथा आप डीएलएड या बीटीसी में प्रवेश नहीं ले पाएंगे |

प्राथमिक शिक्षक बनने के enter site लिए go to link महत्वपूर्ण पात्रता मानदंड

स्नातक उत्तीर्ण + डीएलएड या बीटीसी + टीचर एलिजिबिलिटी टेस्ट (TET ) + शिक्षक भर्ती परीक्षा |

यहाँ पर हमनें आपको प्राइमरी का मास्टर (शिक्षक) के विषय में जानकारी उपलब्ध करायी है, यदि इस जानकारी से सम्बन्धित आपके मन में किसी प्रकार का प्रश्न आ रहा है, अथवा इससे सम्बंधित अन्य कोई जानकारी प्राप्त करना चाहते है, तो कमेंट बाक्स के माध्यम से पूँछ सकते है,  हम आपके द्वारा की गयी प्रतिक्रिया और सुझावों का इंतजार कर रहे है |

Previous Post
Next Post

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.