राष्ट्रीय खेल दिवस (29 अगस्त) National Sports Day 29 August

राष्ट्रीय खेल दिवस (29 अगस्त) National Sports Day 29 August

 

राष्ट्रीय खेल दिवस कब मनाया जाता है?When is National Sports Day celebrated?

हर वर्ष 29 अगस्त को भारत में राष्ट्रीय खेल(National Sports day) दिवस के रूप में मनाया जाता हैं। भारत का राष्ट्रीय खेल दिवस अगस्त(August) महीने की 29 तारीख को मनाया जाता है 29 अगस्त को हॉकी के महान खिलाड़ी मेजर ध्यानचंद (Major Dhyanchand)का जन्म हुआ था। हॉकी के महान खिलाड़ी मेजर ध्यानचंद(Major Dhyanchand) के प्रति देशभर मे सम्मान प्रकट करने हेतु उनकी जयंती (Jayanti)के अवसर पर 29 अगस्त हो हर वर्ष खेल दिवस (Sports day)मनाया जाता है। हॉकी के महान खिलाड़ी मेजर ध्यानचंद दुनिया भर में ‘हॉकी के जादूगर(Hocky Wizard)’ के नाम से प्रसिद्ध हैं।

भारत का राष्ट्रीय खेल क्या है ?What is the national sport of India?

हमारे देश(Country) मे बहुत से खेलो को खेला जाता है। हर देश का अपना खेल होता है जो सम्पूर्ण संसार मे उसके अपने राष्ट्रीय खेल(National Sports) के नाम से जाना जाता है। ऐसे ही हमारे देश का अपना राष्ट्रीय खेल है जिसका नाम है हॉकी(Hocky)। हॉकी सम्पूर्ण विश्व मे भारत के राष्ट्रीय खेल(National Sport) के रूप मे जाना जाता है।

राष्ट्रीय खेल दिवस का इतिहास History of National Sports Day

भारत सरकार ने वर्ष 2012 में हॉकी के जादूगर मेजर ध्यानचंद (Major Dhyanchand)की जंयती काेे राष्‍ट्रीय खेेल दिवस के रूप में मनाने का निर्णय किया था। राष्ट्रीय दिवस(National Day) के दिन खेलों के क्षेत्र मेंं अपना अमिट योगदान देने वाले उत्कृष्ट खिलाडियों(Players) को भारत के राष्‍ट्रपति भवन मेंं राष्ट्रीय खेल पुरस्कारों से सम्मानित किया जाता है। इन पुरुस्कारो मे जिसमें राजीव गांधी खेल रत्न, ध्यानचंद पुरस्कार और द्रोणाचार्य पुरस्कार के अतिरिक्त अर्जुन पुरस्कार दिया जाता है ।

मेजर ध्यानचंद का जीवन परिचय (Life introduction of Major Dhyanchand)

हॉकी के जादूगर (Hockey Wizard)मेजर ध्यानचंद का जन्म 29 अगस्त सन्‌ 1905 ई. को उत्तर प्रदेश के संगम नगर इलाहाबाद (Allahabad)में हुआ था। हॉकी के जादूगर मेजर ध्यानचंद (Major Dhyanchand)ने अपने खेल कैरियर मे कप्तान बनने के दौरान हॉकी में भारत को 3 ओलंपिक (Olympic)पदक दिलाए थे। यह ओलम्पिक पदक वर्ष 1928, 1932, 1936 में भारत ने जीते थे। मेजर ध्यानचंद (Major Dhyanchand)अब तक एक मात्र हॉकी खिलाड़ी हैं जिन्हें पद्म भूषण (Padma Bhushan)पुरस्कार से सम्मानित किया गया है । पद्म भूषण पुरस्कार देश का तीसरा सबसे बड़ा सिविलियन (Civilian)पुरस्कार है। मेजर ध्यानचंद ने अपने 22 वर्ष के कैरियर(Career) में 400 से अधिक गोल दागे थे ।42 वर्ष की आयु तक हॉकी खेलने के बाद वर्ष 1948 में मेजर ध्यानचंद जी ने हॉकी से सन्यास ले लिया और कैंसर (cancer)जैसी भयावह बीमारी के चलते उन्होने 3 दिसंबर 1979 को अपनी अंतिम सांसे ली थी ।

बर्लिन ओलंपिक (Barlin)1936 के फाइनल मैच के दौरान मेजर ध्यानचंद के 3 गोलों की सहायता से भारतीयों ने जर्मनी को 8-1 से आसानी से परास्त कर दिया था ।मेजर ध्यानचंद (Major Dhyanchand)के निर्देशन और प्रतिनिधित्व में उन्होंने भारतीय हॉकी टीम को सफलता के चरम शिखर पर पहुंचा दिया।

राष्ट्रीय खेल दिवस का कार्यक्रम (National Sports Day Program)

राष्ट्रीय खेल दिवस (National Sports day)यानि 29 अगस्त के दिन अपने अपने खेलों मे उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ियों को राष्ट्रपति भवन में भारत के राष्ट्रपति (President)द्वारा खेलों में विशेष योगदान देने के लिए राष्ट्रीय खेल पुरस्कारों से सम्मानित किया जाता हैं, जिसमें राजीव गांधी खेल रत्न, ध्यानचंद पुरस्कार और द्रोणाचार्य पुरस्कारों के अलावा तेनजिंग नोर्गे राष्ट्रीय साहसिक पुरस्कार, अर्जुन पुरस्कार प्रमुख हैं। राष्ट्रीय दिवस (National Sports day)के शुभ अवसर पर खिलाड़ियों के साथ-साथ उनकी प्रतिभा निखारने वाले कोचों को भी विशेष सम्मान से नवाजा जाता है ।राष्ट्रीय खेल दिवस के दिन सभी भारतीय स्कूल और शिक्षण संस्थान ‘अपना वार्षिक खेल समारोह आयोजित करते हैं। पंजाब और चंडीगढ़(Punjab and Chandigarh) में यह दिन बहुत उल्लास के साथ मनाया जाता है।

Categories

 

Recent Posts

error: Bhai Bahut Mehnat Lagi Hai. Padhna Free hain?