PACL के एजेंटो ने सेबी के डायरेक्टर को घेरा 1 हफते में पता चलेगा पैसा कब मिलेगा?

अब आप Education Masters Andriod App भी डाउनलोड कर सकते हैं डाउनलोड करने के लिए लिंक पर क्लिक करें Click Here for Download

PACL latest news 2017

PACL के एजेंटो ने सेबी के डायरेक्टर को घेरा 1 हफते में पता चलेगा पैसा कब मिलेगा ?

आज PACL के एजेंटो ने सेबी के डायरेक्टर को घेरा औ PACL में लगे अपने पैसो के बारे में पूछा। उत्तराखंड के लगभग 5 लाख से ज्यादा लोगों ने अपने पैसो को लगाया हैं , 2015 में सुप्रीम कौर्ट ने आर्डर किया था की PACL का पैसा वापस सेबी करेगी पर अभी तक कुछ कार्यवाही नहीं की। अब उत्तराखंड के एजेंट्स और कस्टमर सब सेबी के ऑफिस में जा रहे हैं और अपने Document जमा करने के बाद अपने पैसे मांग रहे हैं। आज PACLके एजेंट ने सेबी के डायरेक्टर कोघेर लिया और बंदी बना के रखें जब 1 हफ्ते में ये बताने का आश्वाशन दिया तब जाकर एजेंटो ने अपना आंदोलन वापस लिया

अगर जल्दी ही पैसा वापस नहीं मिला तो बड़ा जन आंदोलन करेंगे |

सेबी ऑफिस देहरादून
RTO ऑफिस के पास
2nd Floor, GMVN Building,
74/1, Rajpur Road,
Ddun – 248001, UK
Tel.: +91 0135-2740722/0135-2740725
Fax : +91 0135-274072/2740722
E-mail : dehradun-lo[@[sebi.gov.in

 

SEBI Tollfree Number: 1800 266 7575

PACL के कस्टमर अपने पालिसी के रिकॉर्ड को वेबसाइट पर सबमिट करे इस वेबसाइट के माध्यम से हम आपकी आवाज़ PM तक पहुंचाने वाले हैं

Website : www.paclcustomers.com

 

 

787 Total Views 2 Views Today
Previous Post
Next Post

Posted by- gk in hindi | Education Masters


अब आप Education Masters Andriod App भी डाउनलोड कर सकते हैं डाउनलोड करने के लिए लिंक पर क्लिक करें Click Here for Download

दोस्तों अगर आपको किसी भी प्रकार का सवाल है या eBook की आपको आवश्यकता है तो आप निचे comment कर सकते है. आपको किसी परीक्षा की जानकारी चाहिए या किसी भी प्रकार का हेल्प चाहिए तो आप comment में हमे बता सकते हैं हम आपको जल्दी ही reply कर देंगे। अगर आपको हमारा article पसंद आया हो तो अपने दोस्तों के साथ share करना न भूलें करे.

आप हमारे फेसबुक पेज Facebook P age से भी जुड़ सकते है जिसके माध्यम से आपको Daily updates आपके फेसबुक पर मिलते रहेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.