गणेश चतुर्थी के अवसर पर व्रत विधि और क्या ना करे

0
694

{Shubh} ganesh chaturthi 2015 vrat vidhi | vinayaka chaturthi Muhurat

hello friends and viwers today i am posting a current event devotional post Ganesh chaturthi .  celebration of ganesh chaturthi . how we can you  start ganesh pooja  in your  home.

भगवान श्रीगेश  को  तुलसी  पत्र  और  तुलसी से बने किसी भी प्रकार की  वस्तु  नहीं चढ़ानी चाहिए। 

  1. पूजन से पहले नित्यादि क्रियाओं से फारिख होकर  आसन में बैठकर सभी पूजा की सामग्री को एकत्रित कर जैसे (

    पुष्प, धूप, दीप, कपूर, रोली, मौली लाल, चंदन, लड्डू)

    आदि एकत्रित कर क्रमश: पूजा करें।

  2. श्रीगणेश भगवान को  मोतीचूर लड्डू अधिक अच्छे लगते हैं इसलिए उन्हें घी से बने लड्डू का चढ़ावा देना चाहिए।
  3. श्रीगणेश महाराज के  मंत्र ॐ श्री गं गणपतये नम: का 108 बार जप करने से अपनी इच्छा के अनुसार फल की प्राप्ति होती है।
  4. महाराज श्रीगणेश भगवन सहित  शिव व गौरी, नन्दी, कार्तिकेय सहित सम्पूर्ण शिव परिवार  और देवताओ की पूजा  विधि से करना चाहिए।
  5. आपको इस बात का अवव्श्य  ध्यान रखना होगा की आप इस दिन गुस्सा ना करे और किसी की बुराई न करे.
  6.  1, 2, 3, 5, 7, 10  के दिन के हिसाब से गणेश जी की प्रतिमा की पूजा करे और आखरी दिन ब्राह्मण  को  यथाशक्ति दान देकर मूर्ति को विसर्जित कर दे |
  7. विसर्जन के दौरान किसी साफ़ जगह का चयन करे और अत्यधिक भीड़ वाली जगह जाने से  बचे.. ज्यादा गहरे पानी में जाने की को कोशिस न करे|
  8. श्री गणेश और लक्ष्मी जी का विसजर्न एक साथ  ना करे |

 

 

 

Previous Post
Next Post

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.