Uttarakhand G.k : Districts of Uttarakhand # उत्तराखंड में जिले

Districts of Uttarakhand

आज हम educationmasters आपके लिए लाए हैं उत्तराखंड के 13 जिलों के विषय मे जानकारी।  आशा है हमारे लेख के माध्यम से आप उत्तराखंड की विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं मे इनसे सम्बंधित प्रश्नोत्तरी का सटीक जवाब दे पाएंगे।

Districts of Uttarakhand

उत्तराखंड में कुल 13 जिले हैं जिनमे से 6 जिले कुमाऊं मंडल के अंतर्गत और 7 जिले गढ़वाल मंडल के अंतर्गत आते हैं।

1 अल्मोड़ा Almora

अल्मोड़ा नगर उत्तराखण्ड राज्य के कुमाऊँ (Kumaun)मंडल में स्थित है। यह समुद्रतल से 1646 मीटर की ऊँचाई पर स्थित है।इसका कुल क्षेत्रफल 3,144 वर्ग किमी है।  अल्मोड़ा की स्थापना राजा बालो कल्याण चंद (Kalyan Chand)ने 1568 में की थी। अल्मोड़ा की जनसँख्या6,22,506 और साक्षरता दर 70.12% है। अल्मोड़ा मे 12 तहसील हैं जो की निम्नलिखित है –अल्मोड़ा, भिकियासैण, रानीखेत, धौलछीना, स्याल्दे, जैंती, भनौली, द्वाराहाट, सोमेश्वर, चौखुटिया, सल्ट, लमगड़ा और विकासखंड की संख्यां 11है जो निम्नांकित हैं-ताड़ीखेत, भिकियासैण, लामागडा, धौलादेवी, स्यालदे, भैसियाछाना, हवालबाग, द्वाराहाट, ताकुला, चौखुटिया, सल्ट

2 बागेश्वर Bageshwar

बागेश्वर उत्तराखण्ड राज्य के कुमाऊं मंडल(Kumaun ) में 2,246 वर्ग किमी क्षेत्रफल मे फैला है । समुद्र तल से इसकी औसत ऊंचाई 1004 मीटर (3214 फीट) है। बागेश्वर (Bageshwar)जिले की स्थापना 15 सितम्बर, 1997 को हुई थी और इसकी साक्षरता दर  80.01 % है ।बागेश्वर मे कुल 6 तहसीले हैं –बागेश्वर, कपकोट, गरुड़, कांडा, दुगनाकुरी, काफीगैर। विकासखंडो की संख्यां 3 है-बागेश्वर, कपकोट, गरुड़।

3 चमोलीChamoli

चमोली (Chamoli)उत्तराखंड का सबसे बड़ा जिला है इसकी  स्थापना 14 फरवरी, 1960 को की गयी।इसका क्षेत्रफल  8,030 वर्ग किमी है। यहाँ की जनसंख्यां   3,91,605 और साक्षरता दर  82.65 % है।तहसील की संख्या 12 है –चमोली, कर्णप्रयाग, जोशीमठ, थराली, पोखरी, गैरसैंण, घाट, आदिबद्री, जिलासू, नन्द प्रयाग, देवल, नारायणबगड़  विकासखंड 9 है –कर्णप्रयाग, जोशीमठ, थराली, गैरसैण, घाट, देवाल, दशोली, नारायणबगड़, पोखरी

4 चम्पावत Champawat

चम्पावत जिले की स्थापना(Foundation) 15 सितम्बर, 1997 को हुई। यह समुद्र तल से 1615 मीटर की ऊँचाई पर स्थित है।इसका कुल  क्षेत्रफल 1,766 वर्ग किमी है। इसकी जनसंख्या 2,59,648 है। तथा साक्षरता दर  79.83 है। यह तहसील की संख्यां 5 है –चम्पावत, पाटी, पूर्णागिरी, लोहाघाट, बाराकोट तथा विकासखंड 4 हैं – चम्पावत, लोहाघाट, बाराकोट, पाटी है

5 देहरादून Dehradun

देहरादून उत्तराखंड की राजधानीCapital है इसकी स्थापना 1870 को हुई। इसका क्षेत्रफल  3088 वर्ग किमी है।यहाँ  जनसंख्यां 16,96,694 है। यहाँ सात तहसीलें हैं –चकराता, विकासनगर, देहरादून, ऋषिकेश, त्यूणी, डोईवाला, कालसी।  विकासखंडो की संख्यां 6 है –चकराता, रायपुर, सहसपुर, डोईवाला, कालसी, विकासनगर

6 हरिद्वार Haridwar

हरिद्वार जिले की स्थापना(Foundation) 28 दिसम्बर, 1988 को हुई। यह 3139 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है।इसका क्षेत्रफल 2,360 वर्ग किमी है। यहाँ कुल जनसंख्यां 18,90,422 है। यहाँ की साक्षरता दर73.43% है। यहाँ तहसील – 5 (हरिद्वार, रुड़की, भगवनापुर, लक्सर, नारसन)ब्लॉक (विकासखंड) – 6 (रुड़की, भगवनापुर, लक्सर, नारसन, बहादराबाद, खानपुर)है।

7 नैनीताल Nainital

नैनीताल जिले की स्थापना(Foundation) 1891 को हुई।यह समुद्र तल से लगभग 1938 मीटर (6358 फुट) की ऊंचाई पर स्थित है।यहाँ का कुल क्षेत्रफल  4,251 वर्ग किलोमीटर है। यहाँ कुल जनसंख्यां 9,54,605 है और साक्षरता दर  83.88 %है। तहसील – 9 (नैनीताल, हल्द्वानी, रामनगर, धारी, कोश्याकुटौली, बेतालघाट, लालकुँआ, कालाढूंगी, ओकलकाण्डा) ,ब्लॉक (विकासखंड) – 8 (हल्द्वानी, भीमताल, रामगढ, कोटाबाग, रामनगर, बेतालघाट, ओखलकांडा, धारी)

8 पौड़ी गढ़वाल Pauri Garhwal

पौड़ी गढ़वाल जिले की स्थापना (Foundation)1840 को हुई।इसका सम्पूर्ण क्षेत्रफल 5,230 वर्ग किमी है। यहाँ की जनसंख्यां 6,87,271 है। पौड़ी गढ़वाल की साक्षरता दर 82.02 % है  यहाँ तहसीलो की संख्यां 13 (पौड़ी, श्रीनगर, थलीसैंण, कोटद्वार, धूमाकोट, लैंसडाउन, यमकेश्वर, चौबटाखाल, चाकीसैंण, सतपुली, जाखड़ीखाल, रिखणीखाल, बीरोंखाल) है। ब्लॉक (विकासखंड) – 15 (कलजीखाल, पौड़ी, थलीसैण, पाबौ, रिखणीखाल, बीरोंखाल, दुगड्डा, लैंसडाउन, कोट, द्वारीखाल, यमकेश्वर, पोखड़ा, नैनिडाडा, खिर्सू, पाणाखेत) है।

9 पिथौरागढ़ Pithoragarh

पिथौरागढ़ की स्थापना (Foundation)24 फ़रवरी, 1960 को हुई। पिथौरागढ़ का पुराना नाम सोरघाटी (Soraghati)है। यह समुद्रतल से 1695 मीटर की उँचाई पर स्थित है।यहाँ का कुल क्षेत्रफल – 7,090 वर्ग किमी है ,जनसंख्यां 4,83,440 है। कुल तहसील – 12 (पिथौरागढ़, धारचूला, मुनस्यारी, डीडीहाट, कनालीछीना, बेरीनाग, बंगापनी, गणाई-गंगोली, देवलथल, गंगोलीहाट, थल, तेजम)ब्लॉक (विकासखंड) – 8 (मुनस्यारी, धारचूला, बेरीनाग, डीडीहाट, कनालीछीना, गंगोलीहाट, पिथौरागढ़, मूनाकोट) है।

10 रुद्रप्रयाग Rudraprayag

रुद्रप्रयाग जिले की स्थापना(Foundation) 1997 को हुई। रुद्रप्रयाग अलकनंदा तथा मंदाकिनी(Alaknanda and Mandakini) नदियों का संगमस्थल है।यहाँ का क्षेत्रफल 1,984 वर्ग किमी है। कुल जनसंख्या 2,42,285 है तथा साक्षरता दर  81.30 है।  यहाँ तहसील – 4 (ऊखीमठ, जखोली, रुद्रप्रयाग, बसुकेदार)है और ब्लॉक (विकासखंड) – 3 (ऊखीमठ, अगस्त्यमुनि, जखोली)है।

11 टिहरी गढ़वाल Tehri Garhwal

टिहरी गढ़वाल जिले की स्थापना(Foundation) 1949 को हुई।इसका सम्पूर्ण क्षेत्रफल  3,642 वर्ग किमी है।कुल जनसंख्या 6,18,931 तथा साक्षरता दर  76.36% है। यहाँ 12 तहसीलें टिहरी, नरेन्द्र नगर, प्रतापनगर, देवप्रयाग, घनसाली, जाखणीधार, धनोल्टी, कंडीसौड़, गजा, नैनाबाग, कीर्तिनगर, बालगंगा और 10 विकासखंडटिहरी, चम्बा, प्रतापनगर, जौनपुर, नरेन्द्रनगर, देवप्रयाग, कीर्तिनगर, घनसाली, जाखाणीधार, धौलधार है।

12 ऊधम सिंह नगर Udham Singhnagar

ऊधम सिंह नगर जिले की स्थापना (Foundation)1995 को हुई।इसका कुल क्षेत्रफल  2,542 वर्ग किमीहै। कुल जनसंख्या – 16,48,902 तथा साक्षरता दर – 73.10 % है। यहाँ तहसील – 8 (काशीपुर, गदरपुर, जसपुर, खटीमा, किच्छा, सितारगंज, बाजपुर, रुद्रपुर) और ब्लॉक (विकासखंड) – 7 (जसपुर, खटीमा, सितारगंज, काशीपुर, रुद्रपुर, बाजपुर, गदरपुर)है।

13 उत्तरकाशी Uttarkashi

उत्तरकाशी जिले की स्थापना (Foundation)24 फरवरी, 1960 को हुई।इसका कुल  क्षेत्रफल– 8,016 वर्ग किमी है तथा कुल जनसंख्या – 3,30,090 और साक्षरता दर – 75.81 %है। यहाँ कुल तहसील – 6 (भटवाड़ी, डुंडा, पुरोला, मोरी, चिन्यालीसौड़, बड़कोट)और ब्लॉक (विकासखंड) – 6 (भटवाड़ी, डुंडा, पुरोला, मोरी, चिन्यालीसौड़, नौगाव)है।

Categories

 

Recent Posts

error: Bhai Bahut Mehnat Lagi Hai. Padhna Free hain?