World G.k : World Osteoporosis Day (20 October)

World Osteoporosis Day (20 October)‘विश्व ऑस्टियोपोरोसिस दिवस’

भारत सहित पूरे संसार में अक्टूबर की 20 तारीख को ‘विश्व ऑस्टियोपोरोसिस दिवसWorld Osteoporosis Day’ मनाया जाता है। ‘विश्व ऑस्टियोपोरोसिस दिवस World Osteoporosis Day’ ऑस्टियोपोरोसिस के निदान, रोकथाम और उपचार हेतु जागरूकता बढ़ाने के उद्देश्य से हर वर्ष मनाया जाता है। स्विट्जरलैंड मे स्थित इंटरनेशनल ऑस्टियोपोरोसिस फाउंडेशन International Osteoporosis foundation )द्वारा इस दिवस का प्रत्येक वर्ष आयोजन किया जाता है।

History

विश्व ऑस्टियोपोरोसिस दिवस World Osteoporosis Day का शुभारंभ यूनाइटेड किंगडम की नेशनल ऑस्टियोपोरोसिस सोसाइटी (Osteoporosis Society)द्वारा 20 अक्टूबर 1996 को किया गया। ‘विश्व ऑस्टियोपोरोसिस दिवस विश्व ऑस्टियोपोरोसिस दिवसWorld Osteoporosis Day ’ को यूरोपीय आयोग द्वारा समर्थित भी किया गया। 1997 से, अंतर्राष्ट्रीय ऑस्टियोपोरोसिस फाउंडेशन द्वारा जागरूकता दिवस का आयोजन किया गया है। 1998 और 1999 में, विश्व स्वास्थ्य संगठन ने  (विश्व ऑस्टियोपोरोसिस दिवसWorld Osteoporosis Day)के सह-प्रायोजक के रूप में कार्य किया। दिन ऑस्टियोपोरोसिस और चयापचय हड्डी रोग (Bones )के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए एक साल के अभियान के शुभारंभ का प्रतीक है।

 Osteoporosis disease

  • अस्थिसुषिरता या ऑस्टियोपोरोसिस ( Osteoporosis disease) हड्डी का एक विशेष रोग है जिससे शरीर की हड्डियों मे फ़्रैक्चर (Fracture) का ख़तरा बहुत अधिक बढ़ जाता है।
  • हड्डियों के ऊतकों की खराबी के चलते हड्डियाँ (Bones)कमजोर हो जाती है।
  • ऑस्टियोपोरोसिस रोग Osteoporosis disease में हड्डियां नाजुक एवं कमजोर हो जाती है जिससे रीढ़(Spine) की हड्डी विशेषकर कूल्हे एवं कलाई के फ्रैक्चर होने का खतरा बढ़ जाता है।
  • पुरुषों की तुलना में महिलाओं को मुख्यतः 50 वर्ष की उम्र के पश्चात ऑस्टियोपोरोसिस Osteoporosis disease से पीड़ित होने का खतरा अधिक होता है।
  • इस बीमारी के रोकथाम हेतु कैल्शियम और विटामिन डी (Calcium and Vitamin D) युक्त खाद्य पदार्थों जैसे कि दूध, दही एवं हरी पत्तेदार सब्जियों से भरपूर संतुलित आहार(Balanced Food) का सेवन करना चाहिए।

Symptoms of the origin of osteoporosis

ऑस्टियोपोरोसिस Osteoporosis की उत्पत्ति अत्यंत धीमे-धीमे कई वर्षों की अवधि में होती है। शुरुआत में यह स्थिति रोगी पर बिना किसी प्रकार के प्रत्यक्ष लक्षणों के, धीरे -धीरे बढ़ती है- ध्यान लायक स्थिति में आने में यह कई महीनों से कई वर्षों तक ले सकती है। ऑस्टियोपोरोसिस Osteoporosis के जल्द दिखाई पड़ने वाले संकेतों में हैं:

  • जोड़ों joints का दर्द।
  • खड़े होने में कठिनाई(standing problem)।
  • सीधे बैठने में कठिनाई। वृद्धजनों में अक्सर देखी जाने वाली शरीर की झुकी हुई स्थिति संभावित ऑस्टियोपोरोसिस Osteoporosis का प्रत्यक्ष संकेत होती है
  • चूँकि व्यक्ति की हड्डियों का घनत्व या हड्डियों का भार लगातार घटता है, कूल्हे, कलाई या मेरुदंड की हड्डियों में फ्रैक्चर अधिक आम हो जाते हैं। यहाँ तक कि खाँसी या छींक भी पसली में फ्रैक्चर कर सकती है या मेरुदंड की किसी हड्डी को आंशिक रूप से नष्ट कर सकती है।
  • ऑस्टियोपोरोसिस कोई विशिष्ट दर्द या लक्षण उत्पन्न नहीं करता। हालाँकि, यह गंभीर या कमजोरी से उत्पन्न होने वाले फ्रैक्चर के खतरों को बढ़ाता है।

Main reasons for the origin of osteoporosis

ऑस्टियोपोरोसिस(osteoporosis) का सबसे सामान्य कारण है आयु। आपकी उम्र जितनी बढ़ती है, आपको हड्डियों का क्षरण उतना अधिक होने की संभावना होती है, खासकर यदि आप पर्याप्त मात्रा में कैल्शियम नहीं लेते।ऑस्टियोपोरोसिस  osteoporosis की उत्पत्ति रोगों या अन्य कारणों द्वारा हो सकती है

  • हार्मोन (harmone)सम्बन्धी समस्याएँ।
  • पोषणरहित आहार।
  • कुछ प्रकार की औषधियाँ।
  • अत्यधिक धूम्रपान या मदिरापान।
  • अनुवांशिकता।

click here to other general knowledge questions :-

Categories

 

Recent Posts

error: Bhai Bahut Mehnat Lagi Hai. Padhna Free hain?